Pariksha pe charcha

How to Registration and Participate Pariksha pe Charcha 2021 : दोस्तों, जैसे ही महामारी से थोड़ा निजात मिला तो सरकार ने छात्रों के प्रेरित करने के लिए एक कॉन्टेस्ट का आयोजन कर रही है जिसका नाम है ”परीक्षा पे चर्चा” इससे छात्र प्रेरित होंगे और कुछ अलग करने की प्रेरणा मिल सकेगी क्योंकि सभी को पता है कि महामारी से सबसे ज्यादा असर छात्रों पर पड़ा है क्योंकि इस दौरान उनकी स्कूल पूरी तरह से बंद था। सरकार के तरफ से चलाई जा रही परीक्षा पे चर्चा कांटेस्ट में सिर्फ न केवल छात्र भाग ले सकते हैं बल्कि शिक्षक और पेरेंट्स भी पार्टिसिपेट कर सकते हैं.

Pariksha pe charcha

परिक्षा पे चर्चा 2021 प्रतियोगिता मानव संसाधन विकास मंत्रालय और भारत सरकार द्वारा आयोजित की जा रही है। जबकि MyGov वेबसाइट द्वारा संचालित कई प्रश्नोत्तरी और कार्यों को कवर किया है, यह विशेष प्रतियोगिता वेबसाइट के “Innovate India” खंड का हिस्सा है।

MyGov Pariksha Pe Charcha 2021 : पात्रता मानदंड, समय अवधि और पुरस्कार

यह प्रतियोगिता कक्षा 9, कक्षा 10, कक्षा 11 और कक्षा 12 में पढ़ने वाले छात्रों के लिए है। इन छात्रों के माता-पिता भी इस प्रतियोगिता में भाग ले सकते हैं। यदि आप कक्षा 9 से 12 तक के छात्रों को पढ़ाने वाले शिक्षक हैं तो आप भी प्रतियोगिता में भाग ले सकते हैं। रजिस्ट्रिशन 18 फरवरी को लाइव हो गई और 14 मार्च, 2021 को यह समाप्त होगी।

परीक्षा पे चर्चा कांटेस्ट के प्रतिभागियों में से कुल 1,500 छात्रों, 250 माता-पिता और 250 शिक्षकों को विजेता के रूप में चुना जाएगा। इन विजेताओं को प्रधानमंत्री के साथ परिक्षा पे चरचा आभासी कार्यक्रम में प्रत्यक्ष प्रतिभागी होने का अवसर मिलेगा। प्रत्येक विजेता को एक विशेष रूप से डिज़ाइन किया गया प्रमाण पत्र भी प्राप्त होगा।

Pariksha Pe Charcha 2021 : Ask to PM (प्रधानमंत्री से सीधे सवाल पूछ सकते हैं)

प्रतियोगिता के आयोजकों के अनुसार, प्रत्येक विजेता को एक विशेष परिक्षा पे चर्चा किट भी मिलेगी। विजेताओं में से छात्रों के एक छोटे समूह को सीधे प्रधानमंत्री के साथ बातचीत करने और उनसे सवाल पूछने का अवसर मिलेगा। इन चुनिंदा प्रतिभागियों में से प्रत्येक को प्रधानमंत्री के साथ उनकी ऑटोग्राफ की गई तस्वीर की डिजिटल स्मारिका भी मिलेगी।

Pariksha Pe Charcha 2021 contest: प्रतियोगिता के विषय

प्रतियोगिता को विषयों में विभाजित किया गया है। छात्रों, अभिभावकों और शिक्षकों के लिए एक अलग विषय है। छात्र उनके लिए निर्दिष्ट केवल एक विषय में भाग ले सकते हैं और उन्हें प्रत्येक गतिविधि के लिए उल्लिखित शब्द सीमा से अधिक नहीं होनी चाहिए। यहाँ विषयों पर एक नज़र है:

छात्रों के लिए विषय:

1. परीक्षाएं त्योहारों की तरह हैं, उनका उत्सव मनाएं

गतिविधि: अपने पसंदीदा विषय के आसपास एक त्योहार का दृश्य ड्रॉ करें।
(अपनी पेंटिंग को .jpeg या .pdf फॉर्मेट में अपलोड करें। अधिकतम फ़ाइल साइज 4 एमबी की होना चाहिए)

2. भारत अतुल्य व अद्भत है, यात्रा करें और पता लगाएं

गतिविधि: कल्पना कीजिए कि आपके मित्र तीन दिनों की यात्रा पर आपके शहर आए हैं। निम्नलिखित श्रेणियों में से आप उनकी यात्रा को कैसे यादगार बनाएंगें?

  • दर्शनीय स्थल: (500 वर्णों से अधिक नहीं)
  • स्वादिष्ट भोजन: (500 वर्णों से अधिक नहीं)
  • यादगार अनुभव: (500 वर्णों से अधिक नहीं)

3. एक यात्रा के खत्म होते ही, दूसरे की शुरुआत होती है

गतिविधि: 1500 वर्णों में अपने स्कूली जीवन के सबसे यादगार अनुभवों का वर्णन करें

4. कुछ बनने की नहीं, बल्कि कुछ कर दिखाने की आकांक्षा

गतिविधि: यदि संसाधनों या अवसरों पर कोई प्रतिबंध नहीं हो, तो आप समाज के लिए क्या करना चाहेंगे और क्यों? आपका लेख 1500 से अधिक वर्णों में नहीं होना चाहिए।

5. आभार प्रकट करें

गतिविधि: जिनके प्रति आप आभारी हैं, उनके लिए 500 वर्णों में ‘धन्यवाद कार्ड’ लिखें

प्रधानमंत्री से सवाल-

परीक्षा के तनाव से निपटने से संबंधित कोई एक सवाल लिखें जिसे आप प्रधानमंत्री से पूछना चाहते हैं। आपके सवाल 500 से अधिक वर्णों में नहीं होने चाहिए।

माता-पिता के लिए विषय-वस्तु:

1. आपकी सराहना से आपके बच्चे का जीवन संवरता है–हमेशा की तरह उन्हें प्रोत्साहित करें

गतिविधि: अपने बच्चे के भविष्य के प्रति अपनी सोच व दृष्टिकोण के बारे में लिखें । पहली पंक्ति अपने बच्चे को लिखने दें। फिर आगे आप लिखें । (1500 वर्णों से अधिक नहीं)

2. अपने बच्चे के दोस्त बनें-अवसाद व चिंतासे दूर रखें

गतिविधि: अपने बच्चे को एक पोस्टकार्ड लिखें और उन्हें बताएं कि वे आपके लिए स्पेशल क्यों हैं। (500 वर्णों से अधिक नहीं)

शिक्षकों के लिए विषय:

ऑनलाइन शिक्षा प्रणाली – इसके लाभ एवं इसे कैसेऔर बेहतर बनाया सकता है?

गतिविधि: इस विषय पर लगभग 1500 वर्णों एक रचनात्मक आलेख प्रस्तुत करें

Pariksha Pe Charcha 2021 प्रतियोगिता : कैसे भाग लें ?

1. प्रतियोगिता लिंक पृष्ठ पर जाएं। और लॉगिन टू ऑप्शन पर क्लिक करें। कृपया ध्यान दें कि छात्रों, शिक्षकों और अभिभावकों के लिए एक अलग विकल्प है।

2. अगर आप एक पंजीकृत उपयोगकर्ता हैं तो अपनी ईमेल आईडी या मोबाइल नंबर का उपयोग करके लॉगिन करें।

3. यदि आप एक नए उपयोगकर्ता हैं तो “रजिस्टर नाउ” बटन पर क्लिक करें और पहले अपना खाता बनाएं

4. एक बार लॉगिन करने के बाद, आप ऊपर दी गई सूची में से किसी भी एक विषय पर अपनी प्रतिक्रियाएँ प्रस्तुत कर सकेंगे

दोस्तों, उम्मीद करते हैं आपको यह जानकरी पसंद आई होगी। अगर कोई सवाल या सुझाव है तो कमेंट कर जरूर बताइयेगा। धन्यवाद

40 thoughts on “Pariksha pe Charcha 2021 Participate Kaise Kare – Full Details”
  1. Pitashree apt flat number 4 near chanakya madal college warje maldvadi ,pune, pin no:411058

    1. Does pariksha in India is trying to give information to students or just who will able to learn ques and answer will do top and who is understanding got passing marks

  2. According to me online study is better for adults rather than youngers.Kids have no interest in zoom classes and loss their interest in study.they have depend on cell phone for entertainment and spend enhance time. Digital classes also effect all younger’s mannners. They have no fear of facilitiors .
    On the other hand, online classes should be only for adults because they can enhance their knowledge and learning skills. Secondly they can save their time during digital classes rather than go out side for learning.
    However online class were going on during lockdown I intrected with few parents of kindergarten and hot their veiws. Mostly parents gave preference to physically classes,they were not satisfied to digital classes.
    To sum up, digital classes is a better way to learn something new for adults and enhance their iq.

      1. In the present Scenario of examinations, particularly in the English medium system, up to the 12th. Class students are found to be scoring even 90% or even above and those who secure 70% or less are treated as mediocre. Students suffer a sense of disappointment at securing this percentage and so do the parents. There is a lot of mental pressure on the young mind to secure higher and still higher a percentage. Examination papers have their patterns changing — objective type questions of 1 or 2 marks each for a part of the question paper while some are descriptive to test the writing power of candidates. There are All India Boards while there are State Educational Boards conducting these examinations.

        Even for getting into the University or the Colleges offering Degree and Post-graduate degrees or professional degrees like Engineering, Medical, or such other professional courses, there are entrance examinations held. And so are examinations held for services — All India, State level, for Bank services or Life Insurance services and the like.
        Examinations, thus are the only way to judge a candidate’s ability and mental competence, and no other method, thus far, has been able to be mooted out as an alternative to this system.

        No doubt, it is very difficult to judge a candidate’s competence and his or her mental caliber except by putting him or her to a test — this test can only be in writing — short answers or long answers — that is another question but something must be recorded to be judged.
        But is all this good about the system?

        It has been found that students or even their teachers select out the probable questions or the type of questions that can be expected in that year’s examination — at the lower level say up to the Intermediate level students mug up the answers, without understanding what they are mugging up and if fortunately, they get the same questions, the answers to which they had mugged up, they pour that out and secure good marks.

        Even, otherwise, more intelligent students might be found securing a poor percentage. Have the examinations judged the real merit? The answer will be a ‘no’; but what is the remedy. What is to be done then to decide the better one? And this system of anticipation of probable questions goes on and on till the highest level and preparations are done accordingly.

        All the candidates — the number in lacs cannot be personally interviewed and questioned to judge their individual grade of intelligence or attainment.

        All these compulsions make the examination system to go on in the manner that it goes on.

        And then the aptitude, the attitude, and the mood of the examiner also play its part while evaluating an answer sheet. The same examiner, if required to examine the same answer sheet again without the knowledge that he had evaluated it earlier may award marks quite different from what he had awarded earlier.

        What is the yardstick to judge how the candidate getting 89% marks is indeed lesser intelligent than the one getting 92%?

        So all these are the points that can go against the present examination system. With the present system going on there remains so much pressure and stress over the candidates that even stress management centers prior to the examinations have come into existence.

  3. Hamara mitr tin din ke liae aae to me usko aesi jagh lejauga jo usane kadhi n dekhi ho. Bahot gumauga or moj karauga usako dhi maja aaega
    Me usko aesa khila uga uska manpasand or usane khaya n ho vo khilauga usko maja aaega
    Aesa sthal pe lejauga jo maja avega or gumeke ham phota padega or moj karenge.

  4. Hii modiji
    I am nakul
    My parents Ashavin Bhai and ramilaben
    I study 10
    My school name shree pratap high school vansda

  5. Mai apna friends ka sath school khatam hona ka Bad ek trip par jana chaogi jaha par hum sab different types ki cheeze dakhga alag tahra ka food khayga bhot Sari masti OR fun or bhot Sari picture click karogi kyuki agar hum sab kabhi mila nahi paya toh un moment ko yaad ya pictures ko dekh kar happy fil kar sakaga

  6. Mai apna friends ka sath school khatam hona ka Bad ek trip par jana chaogi jaha par hum sab different types ki cheeze dakhga alag tahra ka food khayga bhot Sari masti OR fun or bhot Sari picture click karogi kyuki agar hum sab kabhi mila nahi paya toh un moment ko yaad ya pictures ko dekh kar happy fil kar sakaga

    REPLY
    Niraj Kumar says:
    13/03/2021 at 02:50
    Good idea

    REPLY
    Gurkawan Kaur says:
    11/03/2021 at 14:24
    Exam

    REPLY
    Parveen says:
    12/03/2021 at 03:13
    Good class

    REPLY
    Amarnath says:
    12/03/2021 at 11:47
    amaranth.sharma1522001@gmail.com

    REPLY
    Katari poojitha says:
    15/03/2021 at 12:33
    Good idea

    REPLY
    Leave a Reply
    Your email address will not be published. Required fields are marked *

    Comment

    Name *
    Twinkle garg

    Email *
    twinkegarg2006@gmail.com

    Website
    i wish to day school are open

    Save my name, email, and website in this browser for the next time I comment.

    RECENT POSTS
    Bihar Board 10th Result 2021 | BSEB 10th Result Link and Download 05/04/2021
    Intermiles Quiz Answers 1 April to 7 April 2021 | Win 50 Intermiles 01/04/2021
    Intermiles Quiz Answers Today – 25th to 31th March 2021 25/03/2021
    Bihar Board 12th Result 2021 : Inter Result Live Update 20/03/2021
    Intermiles Quiz Answers Today 18th – 24th March 2021 18/03/2021
    YOU MISSED
    RESULTS
    Bihar Board 10th Result 2021 | BSEB 10th Result Link and Download
    APR 5, 2021 NIRAJ KUMAR
    INTERMILES QUIZ ANSWER
    Intermiles Quiz Answers 1 April to 7 April 2021 | Win 50 Intermiles
    APR 1, 2021 NIRAJ KUMAR
    INTERMILES QUIZ ANSWER
    Intermiles Quiz Answers Today – 25th to 31th March 2021
    MAR 25, 2021 NIRAJ KUMAR
    RESULTS
    Bihar Board 12th Result 2021 : Inter Result Live Update
    MAR 20, 2021 NIRAJ KUMAR
    Sadhna Tech
    एक साधना ‘टेक्नोलॉजी’ की ओर

    Proudly powered by WordPress | Theme: Newsup by Themeansar.

    Privacy Policy About us Terms & Conditions

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *